रविवार, 28 फ़रवरी 2010

फ़ागुन रीता जाये ना


दिन फ़ागुनी रंग बासन्ती

मौसम भीना भीना सा

इंतजार तेरा करते करते

बीते सावन का महीना ना॥

मौसम ने ली है अंगड़ाई

अब तो प्रियतम आ जाना

तेरे बिन हर पल अब तो

मेरे जी को भाये ना।…

संग सहेलियां इतराती

हौले हौले फ़ागुन गा्यें ना

हंसी ठिठोली मुझसे करतीं

जो मेरे जी को जलायें ना॥

रिमझिम बारिश की फ़ुहारें

अब तो अच्छी लागें ना

लगता जैसे वो हसीं उड़ातीं मेरी

दिल मे तीर सी चु्भोयें ना।

बीत गया सावन का महीना

बीती पिछली दिवाली ना

कहे मेरा दिल रो रो करके

अब के फ़ागुन में आना ना॥

---------

पूनम

25 टिप्‍पणियां:

Suman ने कहा…

आपको तथा आपके परिवार को होली की शुभकामनाएँ.nice

मनोज कुमार ने कहा…

हैप्पी होली!

Udan Tashtari ने कहा…

सुन्दर!!



ये रंग भरा त्यौहार, चलो हम होली खेलें
प्रीत की बहे बयार, चलो हम होली खेलें.
पाले जितने द्वेष, चलो उनको बिसरा दें,
खुशी की हो बौछार,चलो हम होली खेलें.


आप एवं आपके परिवार को होली मुबारक.

-समीर लाल ’समीर’

संजय भास्कर ने कहा…

रंग बिरंगे त्यौहार होली की रंगारंग शुभकामनाए

संजय भास्कर ने कहा…

होली की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ!

अजय कुमार ने कहा…

होली की सतरंगी शुभकामनायें

M VERMA ने कहा…

सुन्दर भाव
होली की शुभकामनाएँ

Apanatva ने कहा…

Sunder rachana........
holi kee shubhkamnae.........
aap ho kanha aajkal.......?

निर्मला कपिला ने कहा…

सुन्दर रचना। होली की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ!

sangeeta swarup ने कहा…

खूबसूरत गीत.....होली की बधाई

Amitraghat ने कहा…

"सुन्दर रचना और होली मुबारक हो......."
प्रणव सक्सैना amitraghat.blogspot.com

RaniVishal ने कहा…

Bahaut Sundar.Aapko sapriwar holi ki shubhkaamnae!!

अर्चना तिवारी ने कहा…

waah!! kya baat hai

होली है होली रंगों की रंगोली
आओ हम मिलजुल खेलें
संग यार नटखटों की टोली
मुबारक हो आपको ये होली

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

दिन फ़ागुनी रंग बासन्ती

मौसम भीना भीना सा

इंतजार तेरा करते करते

बीते सावन का महीना ना॥

बढ़िया प्रस्तुति ,आप एवं आपके परिवार को होली मुबारक.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

बहुत बढ़िया लिखा है!
होली की शुभकामनाएँ!

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत सुंदर होली की बहुत बहुत बधाई जी

रानी पात्रिक ने कहा…

होली की शुभकामनाएं आपको भी। कविता सुन्दर है।

रश्मि प्रभा... ने कहा…

bahut hi badhiyaa

रचना दीक्षित ने कहा…

बीत गया सावन का महीना

बीती पिछली दिवाली ना

कहे मेरा दिल रो रो करके

अब के फ़ागुन में आना ना॥

बहुत खूब
आपको व आपके परिवार को होली की हार्दिक शुभकामनायें

अनामिका की सदाये...... ने कहा…

badhiya prastuti....badhayi.

महफूज़ अली ने कहा…

होली की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ!

शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' ने कहा…

पूनम जी, आदाब
होली की हार्दिक शुभकामनाएं

दिन फ़ागुनी रंग बासन्ती.....
......अब तो प्रियतम आ जाना...
होली के उत्सव पर...ये विरह का रंग...
..................अपना प्रभाव छोड़ गया.

दिगम्बर नासवा ने कहा…

बीत गया सावन का महीना बीती पिछली दिवाली ना कहे मेरा दिल रो रो करके अब के फ़ागुन में आना ना

विरह का रंग लिए ... प्रतीक्षा किसी के आगमन की ..... सुंदर रचना ...

नवीन जोशी ने कहा…

youn fagun se rang gaayab hote ja rahe hain, par aapne unhain kaafee sahej kar rakha hai. Badhayee!!!

राकेश कौशिक ने कहा…

खेद है "फागुन रीता जाये ना" को इतनी देर से पढ़ा बहुत सुंदर तस्वीर और रचना के लिए बधाई
इस विश्वास के साथ कि होली ने आपकी झोली रंगों और उमंगों से अवश्य भरी होगी.