बुधवार, 28 अप्रैल 2010

ओम साईं नमः

कल साईं बाबा की तस्वीर देखते देखते मेरे मन में कुछ भाव आते चले गये । उन्हीं भावों को मैंने शब्दों का रूप दिया है। आइये साईं बाबा की शरण में हम सभी कुछ पल बितायें।

ओम साईं नमः

जय जय साईं बाबा
तुमको नित नित प्रणाम
तुमको लाखों प्रणाम
तुमको कोटि कोटि प्रणाम।
जय जय ---------------।

ओम साईं नमः
शिरडी साईं नमः
साईं साईं नमः
जय जय साईं नमः
देखो साईं बाबा तेरो कितने हैं नाम
जय जय ---------------।

साईं की लीला देखो
कैसी अपरम्पार है
जो दुविधा बंधन में फ़ंसे
करते बेड़ा पार हैं
इसीलिये तो रटते हैं सब
साईं साईं राम।
जय जय ---------------।

साईं सुमिरन जो करे
सो साईं का होय
जो साईं को न सुमिरै
वो भी साईं का होय
इसी लिये तो कहते तुमको
भोले साईं नाथ।
जय जय ---------------।

साईं तो सबके लिये
होवे एक समान
दिल में सभी बराबर उनके
चाहे राम हो या रहमान
इसीलिये तो जाते हैं
सब ही उनके धाम
जय जय ---------------।

तन मन और धन से साईं
सबकी करते सच्ची सेवा
छूत अछूत को वो न मानें
खाते जो भी प्रेम से देता
तभी तो कहलाते हैं
वो साईं संत महान
जय जय ---------------।

अरज हमारी साईं इतनी
हम तो हैं अज्ञानी
मद मस्ती में चूर होके
बन जाते अभिमानी
भूल चूक को क्षमा करो
समझो हैं बालक नादान
जय जय ---------------।

क्या है सेवा क्या है भक्ति
इससे हम हैं अंजान
जैसे भी है जो भी है
तुमको है सब अर्पण
जहां पर तुमने जन्म लिया
धन्य वो शिरडी धाम
जय जय साईं बाबा
तुमको बारम्बार प्रणाम।
जय जय ---------------।
000
पूनम








46 टिप्‍पणियां:

SAMVEDANA KE SWAR ने कहा…

श्रद्धा अनमोल है...और यही श्रद्धा एक पत्थर को शालिग्राम बना देती है और गोबर को गणेश... बिना किसी कामना के की गई भक्ति का पुरस्कार प्रभु हमेशा देता है..

दीर्घतमा ने कहा…

apka bhaw bahut acchha hai.shai baba par bhajan ki rachana acchhi lagi.
dhanyabad

दीर्घतमा ने कहा…

apka bhaw bahut acchha hai.shai baba par bhajan ki rachana acchhi lagi.
dhanyabad

nilesh mathur ने कहा…

भक्ति रस में डूब गए, जय साईं बाबा !

दीर्घतमा ने कहा…

apka bhaw bahut acchha hai.shai baba par bhajan ki rachana acchhi lagi.
dhanyabad

देवेश प्रताप ने कहा…

साईं बाबा की जय ........भक्ति पूर्ण रचना ,

ओम पुरोहित'कागद' ने कहा…

श्रद्दा और विश्वाश अटूट होते हैँ।आपकी भावुकता श्रद्दा के निमित ही है।आपकी आस्था रचना मेँ उतर आई।

महफूज़ अली ने कहा…

साईं बाबा की जय ........भक्ति पूर्ण रचना

Shekhar Suman ने कहा…

bhakti bhawna se oot prot....
mann shant ho gaya.....
yun hi likhte rahein...
regards..
aur haan
-------------------------------------
mere blog par is baar
तुम कहाँ हो ? ? ?
jaroor aayein...
tippani ka intzaar rahega...
http://i555.blogspot.com/

Mayur Malhar ने कहा…

साईं राम सबका मालिक एक
बहुत सुंदर पोस्टिंग

अरुणेश मिश्र ने कहा…

पूनम जी , लिखने के बाद आपको बड़ी शान्ति मिली होगी जैसे पढने वालो को । ....... धरती रत्नगर्भा है ।

मनोज कुमार ने कहा…

जय जय साईं बाबा
तुमको बारम्बार प्रणाम।

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

जय साईं बाबा

Amitraghat ने कहा…

भक्तिमय रचना..."

sangeeta swarup ने कहा…

जय साईं राम .....बहुत अच्छी प्रस्तुति...

रश्मि प्रभा... ने कहा…

sai kripa bani rahe...om sai ram

Apanatva ने कहा…

sant sai kee murtee gour se dekhane par aisa anubhav hota hai jaise shanti sahajata sancharit hone lagee hai.jati pati bade chote sabse uper uthke hai SAI.

Dukh to ise baat ka hai ki bhakto ne ab shirdee ko bhee commercial dham bana diya .Io sant sone ke pahile her sikka jarooratmand ko dekar sota tha use hee sone ke mukut tale dabaya ja raha hai . deen dukhiyo kee seva kee jagah SAI ko gold arpit kar rahe hai.......

BrijmohanShrivastava ने कहा…

बहुत अच्छा भजन | दूसरे पद में + तेरे+ कितने हैं नाम | अंतिम पद अति सुंदर हम सेवा भक्ति से अनजान है बिलकुल इस तरह कि "न मंत्रम नो यन्त्रं 'तदपि न जाने स्तुति महो ,न चाहानम ध्यानं तदपि न जाने

BrijmohanShrivastava ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
अल्पना वर्मा ने कहा…

अपने इस भक्ति गीत में मेरे भाव भी शामिल समझिये..अति सुन्दर भाव.
ॐ साईं राम!

रचना दीक्षित ने कहा…

वाह !!!भक्तिमय कर दिया माहौल. जय साईं राम जय साईं नाम

Mukesh Kumar Sinha ने कहा…

Omm Sai namo namah!!
jai Shree Sai namo namah!!


iskee leela to aprampar hai!!
hame to bas iska aashirwaad chahiye!!
Sai ke gungaan me kahe hue ke liye ham kuchh nahi kah sakta..........:)

Kabhi yahan aayen
jindagi ka kainvess
www.jindagikeerahen.blgospot.com

कविता रावत ने कहा…

ओम साईं नमः
शिरडी साईं नमः
साईं साईं नमः
जय जय साईं नमः
,,., sab par sai kripa babi rahe yahi prarthana hai...
Sundar bhaktipurn rachna ke liye aabhar

Shri"helping nature" ने कहा…

jaiii sai ram

Shri"helping nature" ने कहा…

jaiii sai ram

ज्ञानदत्त पाण्डेय Gyandutt Pandey ने कहा…

कुछ दिन पहले मेरा अनुभव!

Babli ने कहा…

आपकी टिपण्णी के लिए बहुत बहुत शुक्रिया!
बहुत सुन्दर भाव के साथ आपने भक्तिमय रचना प्रस्तुत किया है जो बेहद अच्छा लगा! ॐ साईं राम!

honesty project democracy ने कहा…

बहुत ही उम्दा सोच विचार और चिंतन कर लिखी गयी इस प्रस्तुती के लिए आपका धन्यवाद /

राकेश कौशिक ने कहा…

अरज हमारी साईं इतनी
हम तो हैं अज्ञानी
मद मस्ती में चूर होके
बन जाते अभिमानी
जय साईं राम - आभार

राजेन्द्र मीणा 'नटखट' ने कहा…

आपकी श्रद्धा को हमारा प्रणाम ........अच्छी प्रस्तुति .....भक्ति में डूबी हुई

http://athaah.blogspot.com/2010/04/blog-post_29.html

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

अच्छा भजन है पूनम जी.

Mithilesh dubey ने कहा…

bahut hee sundar

आदेश कुमार पंकज ने कहा…

जय जय साईं बाबा तुमको मेरा ,
कोटि प्रणाम |
बहुत सुंदर प्रार्थना है |

सुशीला पुरी ने कहा…

धरती रतनगर्भा है .........बिल्कुल ।

kshama ने कहा…

Sai baba zindagee bhar faqeer bane rahe aur aaj Shirdi me unke naamse byopar chal raha hai!

Mrs. Asha Joglekar ने कहा…

Bahut sunder bhajan. Manmen achanak upajee shradhase utsfurt rachna ko sunder hona hee hai.

अजय कुमार ने कहा…

बाबा के महिमा की भक्तिपूर्ण प्रस्तुति ।

जय हो सांई बाबा की

दिगम्बर नासवा ने कहा…

श्रधा गीत बहुत अनुपम है ... साई किरपा हो जाए तो जीवन महक जाए ....

बेचैन आत्मा ने कहा…

जय जय साईं बाबा
तुमको बारम्बार प्रणाम.
--वाह! बिना श्रद्धा के इतनी सुंदर शब्दांजलि अर्पित करना असंभव है. आपके इस भाव को भी प्रणाम.

आशीष/ ASHISH ने कहा…

जय श्री साईं बाबा....

हर्षिता ने कहा…

साईं राम सबका मालिक एक
बहुत सुंदर प्रस्तुति है।

kshama ने कहा…

http://simtelamhen.blogspot.com/
Is blog pe maatru diwas ke awsarpe likha ek aalekh zaroor padhen...mujhe achha lagega!

anjana ने कहा…

आप की श्री साई के प्रति श्रृद्धा को उजागर करती ये रचना बहुत ही अच्छी और भक्ति के रस से भरी हुई है। धन्यवाद
ॐ साई नमः

hem pandey ने कहा…

जय साईं राम !
बाबा तुमको शत शत प्रणाम
आपके द्वारा दिए गए चित्र को डेस्कटॉप पर लगा दिया.

mastkalandr ने कहा…

आपकी माता जी की तबिअत अब कैसी है ?.. माता जी के लिए साईंबाबा की प्रार्थना भेज रहा हूँ
साईं दयालम कृपालं नमो साईं नाथं नमो साईं नाथं |
साईं ओंमकारम मुलं अकालम नमो साईं नाथं नमो साईं नाथं ||
साईं व्यापकं ब्रह्म तेज़ स्वरूपं नमो साईं नाथं नमो साईं नाथं |
साईं विश्वआत्मन विशोहम परमात्मन नमो साईं नाथं नमो साईं नाथं ||
ओं साईं नमो नमः श्री साईं नमो नमः सत गुरु साईं नमो नमः
आपका ब्लॉग बहुत सुन्दर है ..मेरी शुभकामनाएँ स्वीकार करें,GOD bless you and your family ... मक्

http://www.youtube.com/mastkalandr

बेनामी ने कहा…

thoda vizanic soch v rakhen bhgwan ke bhasose n rahe aur net par Andhviwash n failaye.